उदयपुर - बस के एक सफ़र में स्वर्ण नगरी की कल्पना - loan Solo Real

उदयपुर – बस के एक सफ़र में स्वर्ण नगरी की कल्पना

उदयपुर
उदयपुर (राजस्थान)
जैसलमेर को स्वर्ण नगरी कहा जाता है क्योंकि पूरा शहर पीले रंग के पत्थरों से बनी इमारतों से लबरेज है। जैसलमेर भी राजस्थान राज्य के अंतर्गत ही एक स्थान है जहाँ रेत, समुंदर के माफ़िक फैला हुआ है। अब आप सोच रहे होंगे कि मैं कहाँ उदयपुर से जैसलमेर पहुँच गया पर घबराइए नही, जैसलमेर की स्वर्ण नगरी के ख़िताब को अपने वृत्तांत चित्रण के माध्यम से उदयपुर के साथ बांटने की धृष्टता करने जा रहा हूँ। इस वजह से जैसलमेर के अस्तित्व का आप सभी से साक्षात कराना आवश्यक था।

हालांकि इतना बड़ा तो लेखक नहीं हूँ कि मेरे लेख किसी क्षेत्र की आब-ओ-हवा को पलट दे, बवाल मचा डाले ख़िताब छीनने के नाम पर, मगर फिर भी कोई हल्का भी कसक अगर मन मे आए तो एडवांस में बतला रहा हूँ कि यह कहानी मेरे दृष्टि की कल्पना मात्र है, मेरी आँखों ने जो चित्रण किया उसे शब्दों में उतार दिया। ऑफिशियली तौर पर स्वर्ण नगरी तो जैसलमेर ही रहेगी।

7.13 सूर्योदय का समय और लगभग 7.45 मेरे बस का समय। तापमान 6℃…

सूर्योदय का समय तो हो चुका था पर सूर्य देवता नाराज चल रहे थे लग रहा था, इसलिए धूप भी दिखने का नाम ही नही ले रही थी। अब मैं ‘कोई मिल गया’ का जादू भी नहीं हूँ जो धूप देखकर पेट भर लेता, इसलिए सुबह का नाश्ता करते हुए रोडवेज की बस का इंतजार करने लगा जो बहुत ही जल्द समाप्त हो गया बस के आने के साथ।

अब आसमान भी लालिमा बिखेरने लग गया था, सूरज देवता की नाराजगी समाप्त होती नजर आ रही थी।
बस के चलने के साथ साथ सूर्य देव का सुंदर सा लाल स्वरूप अपनी सुनहरी किरणों को नीचे पृथ्वी पर बड़ी मोहब्बत से बिखेर रहा था। एक मीठी सी गर्माहट बस के बन्द शीशे से महसूस होना चालू हो चुका था, सूरज परवान चढ़ने लग गया था।
उदयपुर की भौगोलिक स्थिति के अनुसार पूरा शहर पर्वतों के घेरे में बसा है, मानो विशालकाय पर्वत इस झीलों के नगरी को अपनी गोद मे छिपाए हुआ है।

उदयपुर (राजस्थान)

बस सड़क पर चल रही थी, सड़क शहर के बीच था और शहर पर्वतों के..

उदयपुर की स्वर्णिम यात्रा वृत्तांत


उदयपुर यात्रा की लागत कितनी है?

खर्च2 रातों की लागत (प्रति व्यक्ति)
होटल विविध 3,000 रुपये (प्रति व्यक्ति, लगभग)
भोजन2,500 रुपये (प्रति व्यक्ति, लगभग।)
विविधरु. 1,500
कुलरु 9,000


सूर्योदय से निकली सुनहरी किरणें पर्वतों में अपनी सुनहरी आभा बिखेर रही थी। दूरी जितनी कम हो लक्ष्य उतना सीघ्र मिलता है।पर्वतों और सूर्य की दूरी कम थी, किरणे मिल गयी। चारो तरफ पर्वतों पर सुनहरी किरणों ने कुछ यूं खुद को बिखेरा मानो सोने की लहलहाती फसलों ने पूरे पहाड़ों पर कब्ज़ा जमा, अपने रंग में ढाल दिया हो। सुनहरे पर्वतों का यह दृश्य वास्तव में अद्भुत था।

कल्पनाओ ने अपनी उत्सुकता का मोर्चा खोल दिया था और इन्ही मोर्चो से सुनहरा पर्वत की श्याही लिखने के लिए भरी गयी थी। आंखे सुनहरे पर्वतों में व्यस्त थी, सड़को को अभी भी धूप की तलब थी, जिसके मिटते-मिटते मंजिल आ गयी…!!

लेखक :- हर्षितेश्वर मणि तिवारी

उदयपुर में कितने दिन पर्याप्त हैं?

आपको उदयपुर में कम से कम 2 रात और 3 दिन की योजना बनानी चाहिए। आप चित्तौड़गढ़ या माउंट आबू की यात्रा की योजना बनाकर आगे बढ़ सकते हैं

उदयपुर किसके लिए प्रसिद्ध है?

राजस्थान के मेवाड़ की खूबसूरत राजधानी उदयपुर इतिहास, संस्कृति और वास्तुकला से प्यार करने वाले यात्रियों के लिए एक शाही पर्यटन स्थल है। यह अपने विशाल महलों, प्राचीन किलों, खूबसूरत झीलों, हरे-भरे बगीचों, सदियों पुराने मंदिरों, रोमांटिक पृष्ठभूमि और बहुत कुछ के कारण काफी प्रसिद्ध गंतव्य है।

उदयपुर का पुराना नाम क्या है?

समय के साथ इसे विभिन्न नामों से पुकारा जाता था जैसे: तंबावती नगरी/आतपुर/आघाटपुर/अहद। यह लगभग 200 वर्षों तक मेवाड़ की राजधानी थी, [#18 रावल नरवाहन (971 सीई) से (#34) रावल क्षेम सिंह (1168 सीई); इसके बाद नागदा से शासन करने वाले रावल जैत्रा सिंह (1213-1253 सीई) ने चित्तौड़गढ़ को पुनः प्राप्त कर लिया।

उदयपुर को व्हाइट सिटी क्यों कहा जाता है?

बड़ी संख्या में राजपूत-शैली के महलों और शहर के मध्य में बने मुख्य सिटी पैलेस के कारण उदयपुर को भारत का सफेद शहर कहा जाता है। इसके बाद, राजपूत राजाओं ने संगमरमर से बने महलों का निर्माण किया। इसलिए, शहर के विभिन्न संगमरमर महलों में सफेद रंग प्रमुख है।

उदयपुर को नीला शहर क्यों कहा जाता है?

कॉपर सल्फेट कीड़ों को भगाने में कारगर है। कुछ शर्तों के तहत कॉपर सल्फेट नीला हो जाता है, जिससे घरों को उनका प्रसिद्ध समान नीला रंग मिल जाता है।

यह जरूर पढ़ें:

  1. ब्रा और क्लीवेज दिखाकर कर रही लाखों की कमाई
  2. बिकिनी में बवाल मचा दिया RJ Harshi ने | तस्वीरे वायरल
  3. रश्मिका मंधाना और टाइगर श्रॉफ होंगे एक दूजे के
  4. Nora Fatehi: नोरा फतेही बिना मेकअप के दिखती हैं ऐसी,आप भी हैरान होंगे
  5. बातें – जो लड़कियाँ पसंद करती है लड़कों में।

Leave a Comment